मुख्यमंत्री को बम से उड़ाने की धमकी वाला वीडियो वायरल कराने के पीछे बालू माफियाओं का हाथ था। आरोपी दारू का भी धंधा करते हैं। पुलिस को इन तीनों का नाम पता चला गया है। इनके खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई है। ये फतुहा के मोसिमपुर, बांकीपुर गांव के रहने वाले धीरज पासवान, नगवां पासवान और बिक्रम पासवान हैं। इनकी गिरफ्तारी के लिए घरों पर छापेमारी हुई, पर सभी फरार हैं।



पूछताछ के बाद पोयमा को भेजा गया जेल : वैसे पुलिस का दावा है कि तीनों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इस मामले में धमकी देनेवाले मोसिमपुर, कुर्था गांव निवासी पोयमा को पुलिस ने पूछताछ के बाद शनिवार को जेल भेज दिया। पुलिस ने शुक्रवार को फतुहा में बाजार समिति के पास से उसे गिरफ्तार किया था। फतुहा थानेदार नसीम अहमद ने बताया कि साजिश रचनेवाले तीनों बालू माफिया हैं। 

Posted by Amardeep Jha Gautam on Saturday, 13 January 2018

उन्होंने पोयमा को धमकी देने को कहा और उसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। अगर तीनों गिरफ्तार या सरेंडर नहीं हुए तो पुलिस कोर्ट से गिरफ्तारी वारंट लेगी। इस बात की जांच की जा रही है कि इस मामले में किसी अन्य बड़े माफिया का हाथ तो नहीं। पुलिस का कहना है कि इन तीनों की गिरफ्तारी के बाद खुलासा होगा कि इस मामले में और कौन-कौन हैं।  





गौरतलब है कि शुक्रवार को एक युवक ने वीडियो जारी कर मुख्येमंत्री नीतीश कुमार को जान से मारने की धमकी दी थी। वीडियो में युवक नीतीश कुमार को उनके बाडीगार्ड समेत बम से उड़ाने की धमकी दे रहा है। युवक का अपशब्द कहते हुए वीडियो वायरल देख जदयू नेता आशीष पटेल ने उसकी पहचान कर शुक्रवार को नामजद प्राथमिकी फतुहा थाने में दर्ज कराई थी। एफआइआर होते ही पुलिस ने कार्रवाई की। गिरफ्तार युवक थाना अंतर्गत मोसिमपुर कुर्था गोबिंदपुर गांव का निवासी प्रमोद उर्फ पोयमा है। आशीष के अनुसार उनके वाट्सएप पर यह वीडियो गुरुवार को आया।  

Report- Bihar Update

Subscribe us on whatsapp