पटना के लोगों का इस बार भी आकर्षण का केंद्र रहेगा पटना का मसहूर मछुआ टोली । यहां स्थित एथलेटिक ब्वॉयज क्लब के द्वारा इस बार दुर्गा माता का रौद्र रूप देखने को मिलेगा। 57 सालों से यह पूजा समिति मूर्ति और पंडाल की वजह से आकर्षण का केंद्र रहा है। इस बार भी इसकी खासियत पंडाल और मूर्तियां ही रहेंगी।

रौद्र रूप में माता की 15 फीट की प्रतिमा पंडाल में विराजेगी। इसके साथ ही यहां 13 अन्य मूर्तियां भी रहेंगी जिनमें शंकर, गौरी, पार्वती, ब्रह्मा, नारद, इंद्र, लक्ष्मी, सरस्वती की मूर्तियां प्रमुख हैं। इसकी भव्यता कैलाश मानसरोवर की तरह दिखेगी। इसको ऐसे सजाया जा रहा है कि इसकी भव्यता देखते ही बनेगी।

पूरा पंडाल मानसरोवर पहाड़ की आकृति में दिखेगा। जिसमें कैलाश पर्वत, मानसरोवर की बर्फीली गुफाओं की खूबसूरत कलाकृति दिखेगी। 90 गुणा 40 फीट में बने इस भव्य पंडाल में 13 मिट्टी की मूर्तियां होंगी और एक 15 फीट की दुर्गा माता का रौद्र रूप धारण की हुई प्रतिमा भी होगी।