विकास में भेदभाव को लेकर ख़ौफ़ में बदला उत्साह…

बक्सर :  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बक्सर स्थित नंदन गांव में जमकर विरोध हुआ. बक्सर पहुंचे मुख्यमंत्री नंदन गांव में विकास योजनाओं का जायजा ले रहे थे जिसके बाद उन्हें सभा को संबोधित करना था. गांव से जैसे ही सीएम नीतीश कुमार अपने काफिले के साथ सभास्थल में जाने के लिए रवाना हुए तभी गांव वालों ने अचानक उनके काफिले पर हमला बोल दिया. एक तरफ पत्थर से ताबड़तोड़ हमले से कई गाड़ियों के शीशे टूट गए तो कई लोगों को गंभीर चोटें भी आई और पूरे गांव में अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया. सीएम की सुरक्षा में तैनात एक जवान का भी सर फट गया जिससे वह गंभीर रुप से जख्मी हो गया. वहीं डुमराँव थानाध्यक्ष सुबोध कुमार का सर फट गया तथा ददन पहलवान को भी चोट लगी. हालात को बिगड़ता देख किसी तरह से सीएम की सुरक्षा में लगे जवानों ने मुख्यमंत्री को बचाते हुए सभा स्थल तक पहुंचाया. इसी बीच CM के काफिले में शामिल गाड़ियों पर ताबड़तोड़ पथराव के कारण वहां अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया. ग्रामीणों का आरोप था कि बगल में ही दो बस्ती होने के कारण सिर्फ एक बस्ती में ही नीतीश कुमार ने निरीक्षण किया. ग्रामीणों की मांग थी कि वह उनकी बस्ती में भी जाएं. ग्रामीणों का कहना है कि जिस बस्ती में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को आना था उसी बस्ती का आनन-फानन में कायाकल्प किया गया जबकि बगल की दलित बस्ती में अभी सुविधाओं का अभाव है और सात निश्चय के तहत आने वाली योजनाओं के नाम पर केवल लोगों के साथ छलावा हुआ है. इस मसले को लेकर वे मुख्यमंत्री से मिलना चाहते थे. मुख्यमंत्री से मिलने की आस में लोगों ने मुख्यमंत्री के वाहन को रोक दिया लेकिन इससे पहले वो कुछ समझ पाते मुख्यमंत्री की सुरक्षा में लगे बक्सर पुलिस के जवानों ने लोगों को पीटना शुरु कर दिया. फिर क्या था लोगों का गुस्सा भड़क गया और देखते ही देखते लोगों ने पथराव शुरु कर दिया जिससे मौके पर स्थिति तनावपूर्ण हो गई. हालांकि जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि काला झंडा दिखाने वालों से मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता बल्कि काला रंग मुझे बेहद पसंद है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में विरोध करने का हक सभी को है ऐसे में लोग अपनी बातें रखते हैं तो उसमें कोई परेशानी नहीं है उन्होंने कहा कि आखिर क्या कारण था जिसके कारण ग्रामीणों ने इस तरह का रुख अख्तियार किया इस मामले की जांच कराएंगे. मुख्यमंत्री ने इशारों-इशारों में विरोधियों पर निशाना साधते हुए यह भी कह दिया कि जिन लोगों को विकास पसंद नहीं है वही सीधे साधे लोगों को भड़काने का काम करते हैं.

Subscribe us on whatsapp