पटना, 12 सितम्बर । भारतीय जनता पार्टी के प्रदेष प्रवक्ता संजय सिंह टाइगर ने कहा है कि अपने को गरीब-गुरबे का नेता कहने वाले लालू प्रसाद दस हजार करोड़ रूपये की नामी-बेनामी सम्पत्ति के मालिक हैं। आयकर विभाग ने तो मात्र 175 करोड़ रूपये की सम्पत्ति कुर्क की है। इसमें अभी और बढ़ोत्तरी के आसार है ।
श्री टाइगर ने आज यहां कहा कि भेटनरी काॅलेज के सर्वेंट क्र्वाटर में रह कर राजनीति में प्रवेष करने वाले लालू प्रसाद के पास हजारो करोड़ रूपये की सम्पत्ति कहां से आयी उन्हें बताना चाहिए । और तो और लालू प्रसाद ने गलत तरीके से अर्जित हजारों करोड़ रूपये की सम्पत्ति में अपनी पत्नी, पुत्र, पुत्रियां और दामाद को संलिप्त कर गरीब होने का नायाब उदाहरण पेष किया है । हैरत की बात तो यह है कि महज 27 वर्ष की आयु वाले उनके छोटे पुत्र और उपमुख्यमंत्री रहे तेजस्वी यादव भी करोड़ो रूपये की नामी-बेनामी सम्पत्ति के मालिक हैं जबकि उनका पूर्व में कोई रोजगार तक नहीं था।  श्री टाइगर ने कहा कि अब जब उनकी बेनामी सम्पत्ति उजागर हो रही और कानून अपना काम कर रहा है तो लालू प्रसाद और उनका कुनबा तिलमिला उठा है । बदले की भावना से कार्रवाई कैसी ? जिस एजेंसी पर लालू प्रसाद का भरोसा है वहीं तो नकेल कस रही है । गलत काम का नतीजा तो गलत आयेगा ही ।