तेजस्वी का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर हमले में तेजस्वी के हालिया बयानों से ऐसा लगता है यह बयान देते हुए जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने पूरी घटना को लेकर बिहार की राजनीति में एक नई चर्चा छोड़ दिया है। हालांकि इस घटना की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। प्रमंडलीय आयुक्त आनंद किशोर के नेतृत्व में जांच दल गठित किया गया है।

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि बक्सर जिला के डुमरांव में समीक्षा यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर हमले की घटना सामने आई। इस घटना को लेकर हर तरफ चिंता व्यक्त की जा रही है। इसी बीच पिछले कई महीनों से एक दूसरे के धुर विरोधी जदयू और राजद के बीच एक बार फिर से इस घटना को लेकर तल्खी बढ़ गई है। इस घटना के फौरन बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने घटना की निंदा करते हुए लिखा, कि मुख्यमंत्री नीतीश जी आत्ममनन व चिंतन करें कि हर जगह, हर समय और हर क्षेत्र के लोग उनका विरोध क्यों और किसलिए कर रहे है? तेजस्वी यहीं नहीं रुके आगे लिखा, मुख्यमंत्री बताये किस असुरक्षा की भावना से ग्रस्त होकर वो शिक्षा, स्वास्थ्य, विकास और रोज़गार जैसे अतिज़रूरी और गंभीर मसलों को छोड़कर दूसरा राग अलाप रहे है?


तेजस्वी के इस बयान पर पलटवार करते हुए जदयू के तरफ से खूब हमले हुए। जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने सीधे सीधे मुख्यमंत्री के काफिले पर हमला में तेजस्वी के हाथ होने की बात तक कह दिया। संजय सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफ़िले पर हमले के बाद नेता प्रतिपक्ष का रुख़ संदेह पैदा करता है। मुझे आशंका है कि क़ाफिले पर हमला तेजस्वी जी की मिलीभगत से हुआ। इस बयान के बाद से एक बार फिर से राजनीति गरमा गई है। दोनों तरफ से लगातार बयानों का दौर जारी है।

इसके बाद तेजस्वी का एक और बयान सामने आया जिसमे उन्होंने बिहार सरकार पर हमला करते हुए लिखा, बिहार में सरेआम मुख्यमंत्री पर हमला हो रहा है। लेकिन महाजंगलराज पर कोई विमर्श नहीं, क्योंकि जंगलराज अलापने वाले श्री श्री मंगलम श्री सुशील कुमार मोदी उपमुख्यमंत्री है।

Subscribe us on whatsapp