RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद को सीबीआई अदालत के द्वारा साढ़े तीन साल की सजा सुनाने के बाद ऐसा लगता है जदयू RJD नेताओं का मन मिज़ाज चेक करने में लग गई है। ऐसा लगता है कि इसकी शुरुआत RJD के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद पर डोरा डालने से हो गया है। हलाकि यह बात अभी कहना जल्दबाजी होगी क्योंकि कल ही  RJD ने एकजुटाता दिखाया था। इसके बावजूद भी चर्चा जोरों पर है कि लालू प्रसाद के अनुपस्थिति में राजद में सेंधमारी की कोशिश जरूर होगी।

जदयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने RJD के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह पर निशाना साधते हुए कहा है कि अब लालू प्रसाद के सजा होने के बाद रघुवंश बाबू  ने चुप्पी साध लिया है। यह इस बात को इंगित करता है कि  RJD में सब कुछ ठीक नहीं है। कल तक मीडिया के सामने खूब उछल-उछल कर बयान दे रहे रघुवंश प्रसाद जैसे ही रांची में सीबीआई अदालत द्वारा RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद पर चारा घोटाला मामले में सजा का ऐलान हुआ। तब से ही रघुवंश बाबू ने चुप्पी साध लिया है। उन्हें ऐसा लगता है कि अब तेज प्रताप और तेजस्वी के सामने जिंदाबाद के नारे लगाने पड़ेंगे।

आपको बता दें कि नीरज कुमार  RJD में हो रही हर गतिविधियों पर बारीक नजर रखते हैं तथा RJD में होने वाली एक एक हलचल पर बयान देते हैं। नीरज कुमार के इस बयान पर RJD द्वारा क्या कहा जाता है। या किसी तरह की प्रतिक्रिया रघुवंश प्रसाद के तरफ से आती है या नहीं, यह भी देखने वाली बात होगी। वैसे लालू प्रसाद के अनुपस्थिति में जिस तरह से RJD के हर स्तर के नेताओं ने जुट कर एकजुटता का प्रदर्शन किया वह भी गौर करने लायक है।
आपको तफशील से बता दें कि नीरज कुमार ने इस संदर्भ में क्या कहा है। जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार का कहना है की RJD के ड्राइविंग सीट पर तेजस्वी के काबिज होते रघुवंश बाबू ने साधी चुप्पी। लगता है मन में खोट है लेकिन नारा लगाना पड़ेगा,लालु जी होटवार जेल में हैं। तो अब तेजस्वी और तेजप्रताप जिंदाबाद बोलना होगा। नीरज आगे कहते है कि अनुभव और वरीयता को दरकिनार कीजिए और अब जोर जोर से नारा लगाइए।

Subscribe us on whatsapp