बावेल राम कलवा मॉरीशस के नेता प्रतिपक्ष ने बिहार की धरती पर उतरते ही सबसे पहले अपने पैतृक गांव जाने की इच्छा जताई। बावेल राम कलवा यहां अपने पूर्वजों के गांव एवं वहां की मिट्टी को नमन करने आये हैं। बावेल राम कलवा का पटना एयरपोर्ट पर भव्य स्वागत किया गया। जहां से वो सीधे गोपालगंज के परसौनी में अपने पूर्वजों के गांव निकले।

माॅरीशस के सेशल्स गणराज्य में बावेल राम कलवा नेता प्रतिपक्ष है। सूत्रों के अनुसार गोपालगंज से डेढ़ सौ वर्ष पहले उनका परिवार मॉरीशस गया था। आज इस परिवार के शख़्श बावेल राम कलवा को अपने वतन की याद आई। बावेल राम कलवा चौथे पुश्त के चिराग हैं जो अपने पूर्वजों की मिट्‌टी को नमन करने आ रहे हैं।

जैसी जानकारी मिल रही है उसके अनुसार 1862 में इनका परिवार मॉरीशस चला गया था और वहीं बस गया। चौथी पीढ़ी के बावेल राम कलवा जो मॉरीशस में सेशल्स गणराज्य के प्रतिपक्ष के नेता हैं गुरुवार को अपने गांव आ रहे हैं। गोपालगंज, बरौली प्रखंड के रामपुर पंचायत के परसौनी गांव के रहने वाले इनके पूर्वज आज भी इस गांव में मौजूद हैं।


सूत्रों से जानकारी मिली है कि बुधवार को एसडीओ, बीडीओ और सीओ परसौनी गांव पहुंचे और ग्रामीणों को पूरी जानकारी दिया। जिला प्रशासन द्वारा सूचना गांव में रहने वाले लोगों को बताया गया कि मॉरीशस सेशल्स गणराज्य के प्रतिपक्ष के नेता बावेल राम कलवा आने वाले हैं जिनके पूर्वज इसी गांव के थे। इस बात को सुनते ही गांव में जश्न का माहौल बन गया है।

बावेला राम कलवा के परिवार के 95 वर्षीय रघुवीर महतो कहते हैं कि हमें तो कुछ याद नहीं है। परंतु वो ये बताए कि हमारे बाबा बचपन में बताया करते थे कि हमारे पूर्वज सबसे पहले असम में गए। वहां नमक तैयार करने का काम वो लोग बेहतर तरीके से जानते थे। उसी क्रम में नमक बनाते-बनाते मॉरीशस में जाकर बस गए हैं।
बावेल के मॉरीशस से अपने वतन आने की सूचना मिलने के बाद अपनों से मिलने की उम्मीद जग गई है। आज भी उनके परिवार के लोग मजदूरी करके गुजर-वसर करते हैं। 1862 में माॅरीशस जाने वाले कलवा परिवार के बावेल राम कलवा को अपने वतन व अपने लोगों की याद आई और मिलने पहुँच गए। आज भी कलवा के पूर्वज इस गांव में मौजूद हैं जो अपने परिवार के इस बेटे के आने की सूचना में फुले नहीं समा रहे हैं।

Subscribe us on whatsapp