न्यूज़ बिहार डेस्क,बिहार की राजधानी से एक बड़ी खबर आरही है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ सर्वोच्च न्यायलय में एक याचिका दायर की गई थी. सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार यह याचिका वकील एमएल शर्मा ने दायर की थी. आगे मिल रही जानकारी के अनुसार सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका को स्वीकार कर लिया है. सोमवार 11 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट इस मामले पर सुनावाई करेगा.

आपको बताते चलें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर सीताराम नाम के व्यक्ति के खून का आरोप लगा है. इसका आधार ले इस याचिका में वकील एमएल शर्मा ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की विधान परिषद की सदस्यता ख़त्म करने की भी मांग की है. इस दायर की गई याचिका में कहा गया है कि नीतीश कुमार के खिलाफ क्रिमिनल केस लंबित है और इन्होने अपने हलफनामे में 1991 में हुए इस हत्याकांड के बारे कोई जिक्र नहीं किया था. उन्होंने 2004 और 2012 के शपथपत्र में भी हत्याकांड में नाम होने का जिक्र नहीं किया. इसलिए वे संवैधानिक पद पर नही बने रह सकते हैं और उन्हें मुख्यमंत्री पद से हटाया जाए.

 

Subscribe us on whatsapp