न्यूज़ बिहार डेस्क प्रारब्ध अनेकता में एकता के देश भारत को पर्व और तयहारों का देश भी कहा जाता है। इन्हीं विवधताओं के कारण भारत विश्व के सबसे श्रेष्ठ देशों में गिना जाता है। घर्म संस्कृति सभ्यता परंपरा और अपने गौरवशाली समृद्ध इतिहास के साथ भारत विश्व को एक नई दिशा देता है। जितिया जिसे जीवित्पुत्रिका व्रत भी कहा जाता है। ऐसे आस्था, श्रद्धा और मान्यता है कि पुत्र की लंबी उम्र के लिए माताएं इस व्रत को मात्र निर्जला ही नहीं कुछ भी मुंह मे नही डालती इसी कारण इसे खर जितिया व्रत भी कहते हैं। वैसे तो ये व्रत पूरे देश में मनाया जाता है लेकिन शाहबाद, भोजपुर, मगध क्षेत्र मिथिलांचल या कहें तो बिहार यूपी और झारखंड में इसका खास महत्व है।

इस व्रत को महिलाएं अपनी संतान की मंगल कामना लंबी उम्र और तरक्की के लिए करती हैं जो तीन दिनों का होता है। स%A