मोदी और नीतीश के मंत्री पर पश्चिम बंगला में कई धाराओं के तहत के स दर्ज। प० बंगाल के वीरभूम जिले के तारापीठ स्थित सोनार बांग्ला होटल में मंत्री के द्वारा की गई मारपीट की घटना ने तूल पकड़ लिया है। सूत्र बताते हैं कि इस घटना की शुरुआत ऑन लाइन रूम की बुकिंग को लेकर विवाद से शुरू हुई। इस नोकझोंक ने विवाद का रूप ले लिया और नौबत मारपिटाई तक पहुंच गई। बिहार के नगर विकास एवं आवास मंत्री सुरेश कुमार शर्मा, उनके साथ गए लोगों और सुरक्षाकर्मियों द्वारा होटल कर्मियों के साथ हुई मारपीट सुर्खियों में है।

मंत्री सुरेश शर्मा पटना वापस लौट आये हैं उसके पूर्व पश्चिम बंगाल में उनके ऊपर कानून की कई धाराओं में केस दर्ज कराया गया है। होटल प्रबंधन की ओर से मंत्री और उनके सहयोगियों की शिकायत रामपुरहाट थाने में मंत्री व उनके सहयोगियों के खिलाफ हत्या का प्रयास, चोरी, छिनतई, मारपीट व हमले समेत कई गैर जमानती धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। भारतीय दंड संहिता की धारा 143/ 323/ 325/ 379/ 307/ 427/ 506 आइपीसी के अंतर्गत केस दर्ज किया गया है।दूसरी तरफ मंत्री की ओर से भी होटल प्रबंधक और स्टाफ के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। मंत्री सुरेश शर्मा पटना में बिहार पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर पूरी घटना की निष्‍पक्ष तरीके से जांच कराने और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। इसके साथ ही पूरी घटना का विस्तृत जानकारी मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार से मिलकर भी दिए जाने की खबर है।

आपको बता दें कि नव वर्ष के अवसर पर सोमवार शाम करीब 4 बजे तारापीठ में देवी मां के दर्शन के लिए पहुंचे मुजफ्फरपुर से भारतीय जनता पार्टी के विधायक एवं बिहार सरकार में मंत्री सुरेश शर्मा के सहयोगियों और सुरक्षा कर्मी के साथ सोनार बांग्ला होटल के स्टाफ से विवाद हो गया था। बात इतनी बढ़ गई कि मारपीट की नौबत आ गई। इस घटना में मंत्री के सुरक्षा कर्मी, चालक के साथ साथ होटल के चार कर्मचारियों को भी चोटें आई हैं। घटना के बाद मंत्री पर तरह तरह के आरोप लग रहे हैं। यह घटना पूरी तरह से सियासी रंग ले चुका है। बिहार विधान सभा मे नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने घटना के फौरन बाद मंत्री पर बिहार को बदनाम करने का आरोप लगाते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री से मंत्री का मेडिकल जांच कराने का आग्रह किया था। इतना ही नहीं इशारे इशारे में तेजस्वी ने मंत्री पर दबंगई, करने कानून को हाथ मे लेने का भी आरोप लगाया।


सूत्रों के हवाले से चर्चा में तो मंत्री सुरेश शर्मा के नशे में होने की संभावना भी व्यक्त की जा रही है। वहीं ऑन लाईन बुकिंग के बाद होटल से नगदी देने के लिए दबाव बनाना भी पीएम नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया का भी खुलेआम उन्ही के मंत्री द्वारा ध्वस्त करने की बात सामने आ रही है। समाचार के विभिन्न माध्यम पर मंत्री सुरेश शर्मा के मारपीट का समाचार सुर्खियों में है। वहीं सोशल मीडिया में तो मंत्री जी को लेकर कई तरह की तस्वीरें भी वायरल हो रही है। कई खबरों में तो बिहार में शराबबंदी के खिलाफ में मंत्री सुरेश शर्मा के दिये गए बयान खूब चर्चा में हैं। इस बयान में सुरेश शर्मा शराबबंदी को गलत और नीतीश कुमार को तानाशाह और शराबबंदी कानून को तालिबानी फर्मान तक बता रहे हैं।

बिहार में पूर्ण शराबबंदी है और दूसरी तरफ केंद्र की मोदी सरकार कैशलेश को प्रमोट कर रही है। कोई भी बुकिंग ऑनलाईन कराई जाने के बाद उसे निरस्त करने या किसी तरह के वापसी की स्थिति में राशि ऑनलाईन ही खाता में भेजी जाती है। मंत्री जी के मामले में जो बातें सामने आ रही हैं, उसमें दोनों ही मुद्दे पर मंत्री जी पर शक की सुई जा रही है। मामले को देखने से तो यही लगता है कि मंत्री सुरेश शर्मा की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं। पर राजनीति है और इसके नियम कानून और चाल चलन अपने ही वसूलों पर टिके होते हैं। वैसे भी चर्चा है कि सुरेश शर्मा पर छोटे मोदी यानि बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी का हाथ है। इतना आसान नहीं होगा नीतीश कुमार के लिए मंत्री सुरेश शर्मा पर कोई कठोर ऐक्शन लेना।
न्यूज़ बिहार ने इस घटना का सबसे पहले खुलासा किया था। उसके बाद इस घटना के हर अपडेट से आपको रूबरू करता रहा है। आगे भी जांच के बाद जो भी हकीकत सामने आएगा उसे आप तक शीघ्र पहुंचाने का वादा करते हैं। जुड़े रहिये आप के अपने न्यूज़ बिहार की खबरों और कार्यक्रमों से हम हमेशा हर परिस्थिति में आपके साथ रहेंगे।

Subscribe us on whatsapp