प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए राजद सुप्रीमो लालू यादव की बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती का फार्म हाउस सील कर दिया है।प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में मीसा भारती के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। ईडी ने मीसा के दिल्ली के पालम के बिजवासन में मौजूद फार्महाउस को अटैच किया है।इस कार्रवाई के बाद मीसा भारती अब इस फार्महाउस का इस्तेमाल नहीं कर पायेंगी।

मीसा पर आरोप है कि फर्जी कंपनियों से मिले पैसे से भारती ने ये फार्महाउस खरीदा है। मीसा समेत उनके पति पर भी फर्जी कंपनियों से पैसे जुटाने का आरोप है।जुलाई में मनी लॉन्ड्रिंग के केस में ईडी ने मीसा भारती के तीन ठिकानों पर छापेमारी की थी। दिल्ली की जिस प्रॉपर्टी को ईडी ने अटैच किया है उसकी कीमत करोड़ों में है।फॉर्म हाउस नंबर 26 पालम में बना हुआ है। इसकी बेनिफीशियल ओनर मीसा भारती और उनके पती शैलेश हैं। इस फार्म हाउस की कागजों में कीमत 1.41 करोड़ रुपये है, वहीं संपत्ति की बाजार में कीमत 40 करोड़ रुपये की है।

मीसा-शैलेश पर फर्जी कंपनियों के सहारे 800 करोड़ की ब्लैकमनी को व्हाइट करने का आरोप है। इस मामले में शैलेश से कई घंटों की पूछताछ हो चुकी है, तो मीसा को भी ईडी पूछताछ के लिए बुला चुकी है। मीसा और उनके पति के नाम से पंजीकृत तीन फार्म हाउसों और मिशैल प्रिंटर्स ऐंड पैकर्स प्राइवेट लिमिटेड के परिसर में इडी ने तलाशी ली थी।बताया जाता है कि मीसा और उनके पति इस कंपनी के कथित तौर पर निदेशक थे। पीएमएलए के तहत एक मामले में जैन बंधुओं को पहले ही गिरफ्तार कर चुका है।
उल्लेखनीय है कि लालू प्रसाद के परिवार की कथित वित्तीय अनियमितताओं की जांच करने वाला प्रवर्तन निदेशालय तीसरी केंद्रीय एजेंसी है। वहीं, सीबीआइ और आयकर विभाग ने अपनी जांच के तहत करीब 180 करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति कुर्क की थी।

Subscribe us on whatsapp