Advertising

मधुबनी। अंधराठाढ़ी प्रखंड क्षेत्र में शिक्षक अपहरण को लेकर तरह-तरह की चर्चा आम लोगों के बीच में है। पुलिस प्रशासन भी उन तमाम बातों को ध्यान देते हुए अपने मुहिम में लगा हुआ है। कुछ लोगों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि यह पट्टीदारी भूमि विवाद का परिणाम हो सकता हैं। अपहृत शिक्षक मूलत: समस्तीपुर जिले के गोरज गांव के निवासी है।

शादी के बाद दिगंबर झा अपनी ससुराल में बस गए हैं। उनके गांव में पैतृक जमीन को लेकर आपस मे विवाद होने की खबर है। सूत्र की माने तो शिक्षक श्री झा वहां की हिस्से की जमीन बेचकर यहां आ गए। उनके पैतृक गांव में इस बात को लेकर कुछ पक्ष नाराज चल रहे थे। उसी घटना के बाद श्री झा को लगातार धमकियां मिलनी शुरू हो गयी थी। उन्होंने इस बात थाने में आवेदन भी दिया था। अपहृत शिक्षक के परिजनों के मुताबिक मोबाइल पर उन से 25 लाख रुपए फिरौती की मांग की जा रही थी। इनकार करने पर अंजाम भुगतने की धमकी भी दी जाती थी। कुछ दिन पहले भी कुछ अज्ञात लोगों ने उनके घर में घुसकर परिवार वालों को धमकाया भी था।

इन सब के साथ कुछ और अपुष्ट बातें भी हवा में तैर रही हैं। 2010 में दिगंबर झा और उनके पुत्र संतोष झा का अपने कारीगरों के साथ काफी गहरा विवाद हुआ था। इस विवाद के बाद कारीगरों ने खुद की अपनी दुकान खोल ली थी। थाने में इस कांड के बाबत 95/ 10 कांड संख्या दर्ज है। उन्होंने कारीगरों के ऊपर लूटपाट का मामला दर्ज करवाया था। हालांकि बाद में पुलिस जांच में ये पूरा मामला फर्जी साबित हुआ था। पुलिस सूत्रों के अनुसार पुलिस हर संभावित चीजो को ध्यान में रखते हुई मामले की जांच में जुटी है। अभी कुछ कहना जल्दवाजी होगी मगर संभावना है कि इस घटना के उछ्वेदन होने पर कुछ और नए राज सामने आ सकते हैं।

Advertising

शिक्षक के अपहरण से लोग सकते में

अंधराठाढ़ी(मधुबनी), संस : शिक्षक दिगंबर झा के अपहरण को लेकर प्रखंड के लोग हतप्रभ हैं। तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। अपहृत के परिजन घटना के बाद से ही गुरुवार को दिनभर थाना परिसर में बैठे रहे। शिक्षक के एकलौते पुत्र और उनकी पुत्रबधु का रो-रो के बुरा हाल हो रहा है। उनके साथ आई महिलाएं उनको ढाढस बंधा रही थी। उधर सामाजिक राजनीतिक कार्यकर्ताओं व्यवसायियों और आम आदमी का भी जानकारी के लिए पूरे दिन थाना आना जाना लगा रहा। हालांकि पुलिस अबतक कुछ ठोस जानकारी जुटाने में विफल रही है। हाल फिलहाल प्रखंड परिक्षेत्र में बड़े अपराध की ये तीसरी बड़ी घटना है। इससे पहले नवंबर में ग्रामीण बैंक में चोरी का विफल प्रयास दिसंबर में पीएनबी बैंक में चोरी की असफल कोशिश और अब ये अपरहण कांड पुलिस ने लिए नई चुनौती साबित होने वाली है।

बताते चलें कि बुधवार की देर रात प्रखंड के नबटोली पस्टन निवासी दिगम्बर झा का गौड़ गाछी के पास से अपराधियों ने अपहरण कर लिया गया। अपहृत शिक्षक के पुत्र संतोष झा और परिजनों ने बताया है कि अपहरणकर्ताओं ने उनके रिहाई के बदले 25 लाख रूपये की फिरौती की मांग की है। हालांकि अपहरण के बाद से अबतक किसी का भी कोई ़फोन परिजनों के पास नही आया है। अपहृत शिक्षक के परिजनों के अनुसार कुछ समय से अपराधियों के द्वारा उनके पुत्र संतोष झा को दूरभाष पर पैसे के लिए बार-बार धमकी दी जा रही थी।

इस बाबत उन्होंने अंधराठाढ़ी थाना में आवेदन भी दिया गया था। पुलिस अभीतक इसी बात की जांच में लगी थी। की अचानक से अपहरण की ये बड़ी घटना घट गई। घटना के संवेदनशीलता के मद्देनजर झंझारपुर, अररिया, रुद्रपुर और भैरब स्थान की थाना पुलिस भी पूरे दिन अंधराठाढ़ी थाने पर जमी रही। अपहरण की ये घटना स्थानीय पुलिस के साथ साथ बड़े अधिकारियों के लिए भी परेशानी का सबब बन गया है।

Advertising

Subscribe us on whatsapp