Advertising

मधुबनी। ग्रामीण कृषि मौसम सेवा, डा. आरपीसीएयू, पूसा एवं भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार 13 से 16 जनवरी तक मौसम में हल्के सुधार की संभावना है। देर सुबह तक ठंड की स्थिति बनी रहेगी। दिन में तापमान में बढ़ोतरी की संभावना से मामूली रूप से शीतलहर से राहत का अनुमान है। इस अवधि में सुबह में हल्का कुहासा छाया रह सकता है। इस अवधि में अधिकतम तापमान सामान्य 16 से 19 डिग्री सेल्सियस तथा न्यूनतम 5 से 7 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। किसानों को आलू, गेहूं, मक्का, टमाटर, पपीता, केला, एवं सब्जियों वाली फसलों को झ लसा रोग से बचाव के लिए नियमित रुप से निगरानी जरुरी होगा।

शुक्रवार को पछिया ने बढ़ा दी कनकनी

शीतलहर-कुहासा का असर शुक्रवार को जारी रहा। धूप नहीं निकलने के बीच पछिया हवा ने कनकनी बढ़ा दी। इससे बचाव के लिए लोग पूरी तरह गर्म कपड़ों के साथ अलाव का सहारा लेते रहे। संध्या बाद शीतलहर का असर और बढ़ गया। जिससे लोग घरों से बाहर निकलने से परहेज करते रहे। शीतलहर के इन दिनों आम लोगों में सर्दी, खांसी, बुखार की शिकायत बढ़ गई है। इससे बचाव के लिए परिजन चिकित्सकों के यहां पहुंचने लगे हैं। पशुओं के प्रति रहे सजगठंड-शीतलहर के इन दिनों दुधारु पशुओं में निमोनिया, डायरिया जैसी बीमारियों के रोकथाम के लिए पशुपालकों को सजग रहने की जरुरत है। ठंड में पशुओं में होने वाले बीमारियों से बचाव की जानकारी देते हुए जिला पशुपालन पदाधिकारी शशिकांत प्रसाद ने बताया कि पशुओं में निमोनिया, डायरिया के प्रकोप से पशु की सांसें जोर-जोर से चलने लगती है। इस तरह के पशु चारा खाना बंद कर देता है। पशुओं में किसी भी प्रकार के तरह के बीमारी के लक्षण पाए जाने पर निकट के पशु चिकित्सालय से संर्पक करना चाहिए।

Advertising

गर्म कपड़ों की बढ़ी मांग

ठंड बढ़ने से गर्म कपड़ों के अलावा रजाई की मांग काफी बढ़ गई है। रजाई, कंबल की खरीदारी जोरों पर चल रही है। ऊल दुकानों पर भी खरीदारों की भीड़ देखी जा रही है। नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी जटाशंकर झा ने बताया कि शीतलहर से बचाव के लिए शहरी क्षेत्र के सभी वार्डों में अलाव की व्यवस्था की गई है। नगर परिषद प्रशासन द्वारा सार्वजनिक स्थलों पर भी अलाव की व्यवस्था शुरू की गई हैं। वहीं शहर के कई समाजसेवियों द्वारा भी शहर के विभिन्न स्थलों पर अलाव की व्यवस्था की जा रही है।

Advertising

Subscribe us on whatsapp