एक करोड़ खर्च के बाद भी दूसरी बार बह गया पुल का डायवर्सन

0
568

 एक करोड़ खर्च के बाद भी दूसरी बार बह गया पुल का डायवर्सन

कहलगांव (भागलपुर).कहलगांव स्थित एनएच पर बने भैना पुल का डायवर्सन के निर्माण से लेकर मरम्मत पर दो साल के अंदर करीब एक करोड़ खर्च किए गए लेकिन विभाग व ठेकेदार की लापरवाही की वजह से इस दौरान डायवर्सन दो बार बहा और एक बार डूबा। विभाग उसे सही ढंग से दुरुस्त नहीं करा पा रहा है। जबकि पुल बनने तक ठेकेदार को उसकी नियमित रूप से मरम्मत करानी है। हालत यह है कि बनने के बाद कभी उसकी मरम्मत नहीं कराई जा सकी है। नतीजा, मंगलवार को भैना नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण एक बार फिर डायवर्सन ध्वस्त हो गया।
एनएच पर बने डायवर्सन पर दो साल के अंदर करीब एक करोड़ खर्च हो गए हैं। इसके बाद भी बार-बार वह डूब-बह रहा है। बता दें कि कहलगांव में एनएच पर बने स्क्रू पाइल पुल जर्जर होने के कारण उस पर बड़े वाहनों का आवागमन ठीक तीन साल पहले बंद कर दिया गया। वहां बैरियर भी लगा दिया गया। इसके बाद उस साल के अंत में करीब 40 लाख की लागत से डायवर्सन बना। लेकिन जुलाई 2015 में वह बह गया। इसके बाद उसे दुरुस्त करने में छह माह से अधिक समय लग गए। इस पर भी करीब 50 लाख रुपए खर्च किए गए। सबकुछ ठीक-ठाक चल रहा था लेकिन इस साल 13 जुलाई को बाढ़-बरसात के पानी में डूब गया। अभी हाल में उसी ठीक ही किया गया था कि अब दोबारा बह गया।
विभाग का दावा, एक माह में ठीक होगा डायवर्सन
एनएचके कार्यपालक अभियंता राजकुमार ने बताया कि एनएच-80 पर कहलगांव-भागलपुर के बीच त्रिमुहान के पास बने डायवर्सन के मरम्मत के लिए 20 अक्टूबर को टेंडर होना है। इसका टेंडर 11.44 लाख में होना है। जिसमें डायवर्सन का मेंटेनेंस और इसके सुदृढ़ीकरण कराया जाएगा। डायवर्सन 10-12 फीट तक कट गया है। इसको देखते हुए लगता है इसके टेंडर में सुधार करना होगा। एक माह में मरम्मत का काम शुरू किया जाएगा।
डायवर्सन मरम्मत कराना विभाग का काम : एसडीओ
एसडीओ अरुणाभ चंद्र वर्मा ने बताया कि भैना पुल का डायवर्सन ध्वस्त होने की जानकारी मिली है। डायवर्सन को मरम्मत कराने की जिम्मेदारी एनएच का है। विभाग से मरम्मत कराने को कहा गया है। कार्यपालक अभियंता को डायवर्सन के दोनों ओर बैरियर लगाने का निर्देश दिया गया है। डायवर्सन के दोनों ओर पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है, ताकि रात में कोई भारी वाहन नहीं आ जा सके।

Subscribe us on whatsapp