केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी  चौबे ने कल की बैठक के बाद पत्रकारों को संबोधित करते हुए बताया।  अश्विनी चौबे ने कहा पटना एम्स में सुपर स्पेशलिटी विभाग और इमरजेंसी सेवा मई माह से शुरू होगा। इसके साथ ही केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री चौबे ने बताया कि बिहार में एक AIIMS तथा पांच मेडिकल कॉलेज अस्पताल और खोले जाएंगे। राज्य सरकार से नए मेडिकल कॉलेज एवं अस्पतालों के लिए जमीन मांगी गई है।


स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने कहां की जमीन मिल जाए तो अस्पताल को ही मेडिकल कॉलेज अस्पताल में तब्दील कर दिया जाएगा। इस बार के बजट में स्वास्थ्य के क्षेत्र को बड़ी अहमियत दी गई है तथा बिहार में सबसे पहले कार्य शुरू करने की प्रक्रिया भी शुरू की जाएगी। अश्विनी चौबे ने कहा कि पटना एम्स में अभी ऑपरेशन थिएटर चल रहा है और मॉडल ऑपरेशन थिएटर मार्च तक बनकर तैयार हो जाएगा।पटना एम्स में कुल 28 मॉडल ऑपरेशन थिएटर नहीं जाने हैं।

तीन दिवसीय बिहार दौरे पर आए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री एवं बक्सर सांसद अश्विनी चौबे ने रविवार को एवं प्रबंधन के साथ बैठक किया। अस्पताल परिसर में हुई इस बैठक में अस्पताल भवन निर्माण और अन्य सुविधाओं पर गहन विचार विमर्श किया गया। मंत्री ने बताया कि पटना एम्स में अभी तक 30 वैकेंसी चल रही है जल्दी ही 54 फैकल्टी मेंबर्स यहां सेवाएं देंगे जिसकी तैयारी पूरी कर ली गई है। इसके साथ ही केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री ने कहा कि कुल 91 फैकल्टी मेंबरों की नियुक्ति के लिए पत्र भेजा गया है।

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने बताया कि गरीब मरीजों के इलाज के लिए एम्स को राष्ट्रीय आरोग्य निधि के तहत दस लाख का कॉर्पस फंड आवंटित किया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि एम्स परिसर में धर्मशाला निर्माण के लिए पावर ग्रिड कारपोरेशन से बातचीत चल रही है। एम्स पटना को और अतिरिक्त भूमि दिलाने के लिए भी राज्य सरकार से आग्रह किया गया है। मंत्री ने कहा कि मैंने इसे जल्द से जल्द पूरा कर लिए जाने को कहा है। ताकि मरीज व उनके परिजनों को ठहरने में किसी तरह की परेशानी नहीं हो।

बैठक में एम्स पटना के निदेशक डॉक्टर पी के सिंह आईजीआईएमएस के निदेशक डॉ कुमार विश्वास एम्स पटना के चिकित्सक अधीक्षक डॉक्टर कर्नल एस एस गुप्ता डॉक्टर प्रेम कुमार हृदय रोग विशेषज्ञ डॉक्टर संजीव कुमार सर्जन डॉक्टर अनिल कुमार शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्टर लोकेश तिवारी फिजिशियन डॉक्टर रवि कीर्ति और अन्य संबंधित संकाय के डॉक्टर और अधिकारी मौजूद थे। बैठक समाप्त होने के बाद स्वास्थ्य राज्यमंत्री चौबे ने परिसर का निरीक्षण किया और कार्य की प्रगति पर विभिन्न तरह के सुझाव भी दिए परिसर में बनने वाले ट्रामा सेंटर सहित अन्य भवनों का भी निरीक्षण मंत्री के द्वारा किया गया।

Subscribe us on whatsapp