1. केन्द्र और बिहार में अब एनडीए गठबंधन की सरकार है। भ्रष्टाचार के सवाल पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की नीति हमेशा जीरो टॉलरेंस की रही है। इस पर किसी कीमत पर समझौता संभव नहीं है। उक्त बातें ग्रामीण विकास व संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने रविवार को परिसदन में प्रेसवार्ता के दौरान कही। उन्होंने लालू प्रसाद का नाम लिए बगैर कहा कि कुछ लोगों के लिए भ्रष्टाचार का पोषण आदत सी हो गई है। हमारी सरकार की प्राथमिकता बिहार का विकास है। बदले परिस्थिति में बिहार के लिए सुनहरा अवसर आया है।

अब तेजी से बिहार का विकास होगा। विभागीय लक्ष्य की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि बिहार में एक करोड़ 60 लाख परिवार को खुले में शौच जाने से रोकने के लिए सरकार कृत संकल्पित है। शौचालय का निर्माण किया जा रहा है। इस महत्वपूर्ण कार्य में बिहार को स्वच्छ बनाने के लिए सरकार के साथ-साथ प्रबुद्ध लोग, मीडिया समेत सभी लोगों को आगे आना होगा। मंत्री ने 2020 तक हर गांव में खेल मैदान उपलब्ध होने की बात बताते हुए कहा कि इसके लिए मनरेगा योजना में प्रावधान किया गया है। खेल मैदानों का समतलीकरण और विद्यालयों की चारदीवारी की जाएगी। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि शरद यादव के सवाल पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार फैसला करने के लिए अधिकृत हैं। प्रेसवार्ता में भाजपा के जिलाध्यक्ष भास्कर ¨सह, जदयू के जिलाध्यक्ष शिवशंकर चौधरी, लोजपा जिलाध्यक्ष मोती उल्लाह, रालोसपा जिलाध्यक्ष अरुण कुमार मंडल समेत एनडीए के बड़ी संख्या में नेता व कार्यकर्ता मौजूद थे।