गोपालगंज हादसा : बिहार के गोपालगंज में स्थित चीनी मिल के ब्वॉयलर हादसे में अब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हादसे के बाद आक्रोशित लोगों ने चीनी मिल के मालिक की गाड़ियों में आग लगा दिया। जबकि मिल के आस पास सैकड़ों की संख्या में लोग जुट कर उग्र प्रदर्शन कर रहे हैं। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए मौके पर जिलाधिकारी, एसपी सहित तमाम अधिकारी कैंप किए हुए हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार स्थिति काफी भयावह है। स्थानीय लोगो ने आशंका व्यक्त किया है कि मिल में अभी भी कई शव पड़े हुए हैं। मिल के अंदर पड़े शवों को निकाले जाने और स्थिति स्पष्ट करने को लेकर लोग दबाव बना रहे हैं। लोगों ने मिल मालिक पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि एक सप्ताह पहले भी बॉयलर का पाइप फटा था, लेकिन इस हादसे से सबक नहीं लिया गया। मिल को जर्जर मशीनों से चलाया जा रहा था। मिल के मेंटेनेंस पर मालिकों का कोई ध्यान नही है। इसी का नतीजा है कि कल बुधवार रात को बॉयलर गर्म होकर फट गया, जिससे काम कर रहे मजदूर झुलसकर मर गए। विरोध कर रहे लोगों की मांग है कि मिल मालिक हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को मुआवजा दे और उसके परिवार के सदस्य को नौकरी दे।


सूत्र बता रहे हैं कि मिल मालिक महमूद आलम ने इस बात की घोषणा कर दी है कि हादसे में मारे गए मजदूरों के परिजनों को मुआवजा दिया जाएगा। एवं मृतकों के आश्रितों को काम भी दिया जायेगा जब मिल फिर से शुरू होगा। मिल मालिक ने कहा है कि जिस तरह का माहौल बना दिया गया है कारोबार कैसे किया जा सकता है। यह एक हादसा है इसमें कहीं से हमारी कोई गलती नही है। फिर भी हमारी कई गाड़ियों को जला दिया गया। हादसे से सबसे ज्यादा दुःख हमें हुआ है क्योंकि हमारे मिल में काम करने वालों को हमने खोया है।

इधर इस हादसे पर बिहार सरकार भी सक्रिय है, गन्ना मंत्री खुर्शीद फिरोज ने कहा कि सरकार मिल हादसे की जांच कराएगी। जो लोग भी दोषी पाए जाएंगे उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। सरकार हादसे में मारे गए लोगों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करती है तथा इस हादसे में मृत लोगों के परिजनों के साथ है। सरकार नियमानुकूल जो भी करना होगा मृतक के परिजनों के लिए करेगी। जहां तक मुआवजे का सवाल है उन्हें मुआवजा दिया जाएगा।
गोपालगंज में हुए इस दुःखद हादसे से पूरे प्रदेश में शोक की लहर है। चीनी मिल में घटी इस घटना में कई लोगों की जान गई तथा अनेकों लोग घायल हैं। हादसा कैसे हुई इसके पीछे क्या कारण थे यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा। इस दौरान मृतकों के परिजनों को सहारा देना जरूरी है। इस हादसे प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख का मुआवजा देने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही पूरे मामले की जांच का आदेश दिया और फौरन 2 सदस्य टीम हेलीकॉप्टर से गोपालगंज के लिए रवाना किया। सरकार के द्वारा जांच कमेटी बनाई गई है जो इस हादसे की जांच करेगी।

Subscribe us on whatsapp