Advertising

मधुबनी। शिक्षक दिगंबर झा के अपहरण हुए दो दिन बीत चुके हैं। अपहृत की बरामदगी और कांड के उछ्वेदन में हो रहे विलंब से परिजन आशंकित हैं। किसी अनहोनी की आशंका से भीतर भीतर से सिहर रहे हैं। इधर पुलिस सूत्रों के मुताबिक पुलिस हर संभव प्रयास में लगे हैं। पुलिस कई कोनो को आधार बनाकर आगे बढ़ रही है। पुलिस सूत्रों के अनुसार इसका खुलासा करना अभी मुहिम को खतरे में डालना होगा। मगर इस अपहरण को लेकर स्थानीय लोगों और व्यवसायियों में काफी गुस्सा और क्षोभ है।

बताते चलें की बुधवार की रात शिक्षक दिगंबर झा का अपहरण हो गया था। दिगम्बर झा नवटोली पस्टन गांव निवासी हैं। अंधराठाढ़ी बाजार में उनकी ट्रंक आलमारी की दुकान है। बुधवार की देर शाम वे अंधराठाढ़ी बाजार से अपने घर जा रहे थे। रास्ते में गौड़ गांव गाछी के पास पहले से घात लगाए अपराधियों ने उनका अपहरण कर लिया। अंधराठाढ़ी अबतक शांत क्षेत्र माना जाता रहा था। मगर विगत कुछ बर्षों से बढ़ती आपराधिक वारदात से लोग भयभीत हैं। अगर समय रहते पुलिस इस कांड के उछ्वेदन मे सफल रहती है तो पुलिस प्रशासन में लोगों का भरोसा बढ़ेगा।

Advertising

———————–

 

अंधराठाढ़ी(मधुबनी),संस :शिक्षक दिगंबर झा की बरामदगी में हो रहा विलंब से यहां के व्यवसायी

क्रोधित हैं। स्थानीय व्यवसायी कल्याण समिति ने इस बाबत शुक्रवार को एक बैठक की। बैठक की अध्यक्षता समिति के अध्यक्ष नवीन कुमार राय ने की। बैठक में इस घटना को लेकर क्षोभ प्रगट किया। बैठक में इस बात को लेकर ¨चता व्यक्त की गई कि अपराधी तत्व लगातार व्यवसायियों को अपना निशाना बना रहे हैं। पुलिस इनको सुरक्षा देने में विफल साबित हुई है। प्रखंड मुखिया महासंघ ने भी अपहरण कांड को लेकर दुख व्यक्त किया है। स्थानीय सामाजिक राजनीतिक कार्यकर्ता और आम लोग भी इस घटना को लेकर अपना दुख जता चुके है। इसी बात को लेकर व्यवसायियों का एक शिष्टमंडल सचिव अमोद कुमार मेहता के नेतृत्व में थानाध्यक्ष से मिलकर अपनी ¨चता से उन्हें अवगत कराया। डॉ चंद्रशेखर झा, तिलाई पंडित, दुलीचन्द्र महतो, वसन्त कुमार मिश्रा, उमेश पांडेय, सूबेदार कृष्णदेव यादव, विजय महतो, रामानुज राय, निजामुद्दीन अंसारी आदि इस शिष्टमंडल में शामिल थे। शिष्यमंडल ने पुलिस से अपहृत शिक्षक की जल्द से जल्द सुरक्षित बरामदगी के लिए कहा। थानाध्यक्ष रामचंद्र मंडल ने लोगों को पुलिस के ऊपर भरोसा रखने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि पुलिस ने इस बाबत कुछ लोगो को अपने कब्जे में ले लगातार पूछताछ कर रही है। साथ ही पुलिस ने अपराधियों के संभावित कई ठिकानों पर लगातार दबिश दे रही है और छपेमारी कर रही है। परिजनों की सहायता के लिए अपहृत शिक्षक के घर पुलिसकर्मी तैनात कर दिया गया है। उन्होंने लोगों को आश्वस्त किया कि जल्द से जल्द इस कांड का उछ्वेदन कर लिया जाएगा। इस शिष्टमंडल में शामिल के लोगो के अनुसार समिति ने पुलिस को 2 दिनों का समय दिया है। उन्होंने पुलिस से कहा कि इसके बाद वे आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे।

Advertising

Subscribe us on whatsapp