बिहार के मुख्यमंत्री इन दिनों दहेजबंदी के प्रमोशन में लगे हुए हैं, और इधर उनके इस प्रमोशन की धज्जियाँ उड़ाई जा रही है. दरअसल ठिकहा मरीच गांव से दहेजबंदी के विरोध को लेकर एक खबर आरही है.

शादी में दहेज नहीं मिलने से नाराज वर पक्ष ने लड़की पक्ष ओर से तिलक चढ़ाने आये चाचा-भतीजे के साथ मारपीट की. इस मार पिट से दोनों बुरी तरह घायल हो गए हैं. मिली जानकारी के मुताबिक जख्मी पंकज कुमार ने थाने में शिकायत दर्ज कराई है. उनका कहना है कि वे अपनी चचेरी बहन प्रिया का तिलक लेकर ठिकहा मरीचा गांव निवासी सत्यनारायण राय के यहां आये थे. उनके पुत्र सुनील से उनकी बहन की शादी तय थी. जब वे तिलक लेकर उनके घर पहुंचे तो लड़के के पिता दहेज में तीन लाख रुपये और बुलेट बाइक की मांग करने लगे. काफी समझाने-बुझाने के बाद भी जब बात नहीं बनी तो लड़की पक्ष वालों ने उपहार में दिए गए सामान को लौटाने को कहा. इस बात पर वर पक्ष वाले भड़क गए और लाठी-डंडे से मारपीट कर घायल कर दिया. इस दौरान पंकज को बचाने आए उनके चाचा वीरेंद्र राय को भी घायल कर दिया गया.

इस बारे में थानाध्यक्ष से मिली जानकारी बताया एफआईआर दर्ज कर ली गई है, मामले की अनुसंधान कर अभियुक्तों की गिरफ्तारी की जाएगी.ये सब तो घटना की बात थी, पर राजनीति में in दिनों दहेज़ को लेकर काफी गहमा गहमी है. एक तरफ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दहेजबंदी दंभ भर रहे है, दूसरी तरफ राज्य में दहेज़ को लेकर आये दिन कोई न कोई घटना सामने आरही है.

Subscribe us on whatsapp