दुनिया भर में तबाही मचाने के बाद zika virus अब भारत पहुँच चुका है।Zika Virus डेंगू और चिकेनगुनिया की तरह एडीज़ मच्छर के काटने से फैलता है. भारत में भी एडीज़ मच्छर पाए जाते हैं. ज़ीका के पनपने के लिए यहां का मौसम भी अनुकूल है. इससे गर्भवती महिलाएं ज्यादा प्रभावित होती हैं. जिसका असर उनके बच्चे पर पड़ता है. ख़ासकर दूध पीने वाले बच्चों का मानसिक विकास प्रभावित होता है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पहली बार भारत में तीन लोगों के जीका वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि की है. यानी की ये जीका वायरस अफ्रीका से शुरू होकर दक्षिण अमेरिका होते हुए अब भारत पहुंच चुका है. बरसात आने वाली है इसलिए इसके और तेजी से बढ़ने की संभावना है.

जीका वायरस के क्या लक्षण हैं?

ज़ीका के लक्षण आम वायरल बीमारियों की ही तरह हैं. प्रमुख लक्षणों में बुख़ार, जोड़ो में दर्द, चमड़ी पर लाल-लाल निशान और शरीर में दर्द होना है. इसके अलावा यदि इन लक्षणों के साथ किसी की ट्रेवल हिस्ट्री हो तो हमें ख़ास ऐहतियात बरतने होंगे.

Zika Virus को रोकने के 5 उपाय

  1. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक, Zika Virus के संक्रमण को रोकने का सबसे अच्छा उपाय है मच्छरों की रोकथाम.

  2. WHO यानी की विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि मच्छरों से बचने के लिए पूरे शरीर को ढककर रखें और हल्के रंग के कपडे पहनें.

  3. मच्छरों के प्रजनन को रोकने के लिए अपने घर के आसपास गमले, बाल्टी, कूलर आदि में भरा पानी निकाल दें.

  4. Zika Virus से बुख़ार, गले में ख़राश, जोड़ों में दर्द, आंखें लाल होने जैसे लक्षण नज़र आने पर अधिक से अधिक तरल पदार्थों का सेवन और भरपूर आराम करें.

  5. Zika Virus का फ़िलहाल कोई टीका उपलब्ध नहीं है. डब्ल्यूएचओ का कहना है कि स्थिति में सुधार नहीं होने पर फ़ौरन डॉक्टर को दिखाना चाहिए.

Subscribe us on whatsapp