लालू प्रसाद के अनुपस्थिति में पार्टी कमान संभाल रहे तेजस्वी यादव ने चारा मामले में लालू प्रसाद को साढ़े तीन साल की सजा के बाद ने कहा मुझे फ़ख्र है लालू जी मेरे पिता हैं। तेजस्वी ने कहा कि लोग उनसे कितना प्यार करते है यही विरोधियों को बर्दाश्त नहीं होता। तेजस्वी यादव ने कहा है कि अब हाईकोर्ट में बेल के लिए जाएंगे। हमें पूरी उम्मीद है जल्दी लालू जी हम सब के बीच होंगे।

तेजस्वी ने कहा कि हम लोगों को कोर्ट पर भरोसा है तथा गरीब गुरबों के आशीर्वाद और प्यार का साथ है। तेजस्वी यादव ने कहा कि हमारे पास विकल्प हैं और जमानत के लिए हम आगे की कोर्ट में जाएंगे। वहीं तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर इशारों इशारों में हमला करते हुए कहा कहा कि जो लोग ये सोच रहे हैं कि लालू जी को जेल में बंद करवा दिए तो बला टल गई। उनका सोच गलत और मन को बहलाने वाला हैं। उन्हें नहीं मालूम कि बला टली नहीं, बल्कि अब तो जेल के कालकोठरी में उनका काल जन्म ले चुका है। केवल बिहार ही नहीं देशभर में जनता लालू जी और उनके परिवार के साथ हो रहे अत्याचात और फँसाये जाने का पूरा खेल देख रही है। वही जनता फैसला देने का भी इंतजार कर रही है। लालू लाल है उन असंख्य गरीब गुरबा दबे कुचले और अंतिम छोर पर खड़े लोगों का। वही लालू एयर उनके परिवार का रक्षा कवच बनेंगे।
तेजस्वी ने पार्टी में टूट के सवाल को सिरे से नकारते हुए कहा कि जो लोग पार्टी टूटने के सपने और तोड़ने का मंसूबा पाले बैठे हैं अपने इधर उधर से घास फूस जुटा कर बनाये घर को संभालें क्योंकि चिंगारी सुलग चुकी है आग कभी भी भड़क सकती है। राजद एक जुट है और लालू प्रसाद की विशेषता है सबको जोड़ कर रखने की, शायद तोड़ने और इधर उधर से बटोर कर सत्ता की सीढ़ी बनाने वाले ये बात नहीं समझ सकते हैं। राजद रत्ती भर भी टस से मस नहीं होने वाला इस बार फिर से मुंह की खानी पड़ेगी। हो सके तो अपने लोगों को रोक सकते हैं तो रोक लीजिये।
तेजस्वी यादव ने केंद्रीय एजेंसियों का मोदी सरकार द्वारा पूरा इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है। वहीं तेजस्वी ने सवाल दागा है कि क्या देश में सिर्फ एक ही घोटाला हुआ है। देश में कई और भी घोटाले हुए हैं हाल ही में उजागर सृजन घोटाले का कोई नाम नहीं ले रहा। नीतीश कुमार साजिश रचने में उस्ताद हैं एवं उन्हें सबसे ज्यादा डर लालू जी से ही है। सत्ता पर जमने के लिए जब साथ चाहिए था तो लालू ठीक थे जैसे ही सत्ता मिली शातिराना अंदाज में फिर से जा बैठे भाजपा के गोद में और रच दिया साजिश। आगे तेजस्वी ने कहा नीतीश नाकारात्मक राजनीति करते हैं। 1990 के दशक में जनता के बीच लालू जी बढ़ती लोकप्रियता को दबाने के लिए जो साजिशें शुरू हुई वो अब तक जारी है। लालू जी के बाद अब मुझसे और मेरे भाई बहनों से भिड़े हुए हैं।

तेजस्वी ने एक सधे हुए राजनेता की तरह अपनी बात को रखते हुए कहा कि नीतीश विचारधारा नही सुविधा की सियासत करते हैं। इसके ठीक विपरीत लालू जी विचारधारा की राजनीति करते हैं। अगर लालू जी ने नीतीश कुमार के तरह गरीब गुरबा एवं अंतिम पायदान के लोगों को भुला कर स्वार्थ और सुविधा की राजनीति किये होते तो आज जेल में नहीं होते। तेजस्वी ने कहा कि लालू जी एक बार फिर से न्यायालय द्वारा सम्मान के साथ बरी होकर जनता की सेवा के लिए जल्द ही निकल कर आएंगे। जनता सब देख सुन और समझ रही है जवाब भी जनता ही देगी गरीब के बेटा जन जन के नेता को फंसाने का।

Subscribe us on whatsapp