एक बार फिर से लालू प्रसाद में बिहार की राजनीति गरमा दिया है। जैसा कि सभी जानते हैं लालू प्रसाद भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लगातार निशाने पर रखते हैं। इस बार उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गुजरात चुनाव के नाम पर घेरा है। लालू प्रसाद के बयान के बाद हालांकि चुनाव तो गुजरात में हो रहा है। पर एक बार फिर से बिहार की राजनीति में भूचाल आना तय है।

लालू प्रसाद ने कहा है कि अब मोदी की बात कोई नहीं सुनता, इसलिए अब उठाया जा रहा है राम मंदिर का मुद्दा। गुजरात में भाजपा हार रही है, गिनती के दिन बांटेंगे मिठाई। लालू प्रसाद आगे कहते हैं सांप्रदायिक शक्तियों को जिनके पास देश के लिए करने को कुछ नहीं है और सिर्फ राम मंदिर, गाय, गंगा को लेकर झूठा भ्रम और देश को गुमराह कर रहे हैं। जिस गुजरात का झूठा विकास बेच कर प्रधान मंत्री की कुर्सी पर बैठे हैं, जल्दी ही उतर जाएंगे। इनके विरुद्ध देश के 22 दलों को मिलाकर गठबंधन बनाने की तैयारी शुरू हो गई है।


हाल में भारतीय जनता पार्टी और जनता दल यूनाइटेड के तरफ से लालू प्रसाद के गुजरात चुनाव में नहीं जाने को लेकर के बहुत सारी बातें की जा रही थी। उसका जवाब देते हुए तेज प्रताप यादव ने अपने पिता का पक्ष लेते हुए कहा था। हमने तो गुजरात में कोई भी कैंडिडेट नहीं खड़ा किया। जिनके कैंडिडेट खड़ा है वह क्यों नहीं जा रहे हैं? इसका जबाब जदयू को देना चाहिए। इससे भी बड़ी बात करते हुए तेजस्वी ने कहा कि 2019 के बाद जदयू का अस्तित्व ही समाप्त हो जाएगा। जिस दल के नेता अपने प्रत्याशियों के प्रचार में नहीं जाते। उस दल का भविष्य क्या होगा इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है।

आपको बता दे बिहार की राजनीति देश के किसी भी मुद्दे को लेकर कभी भी गर्म हो जाती है। जानकार कहते हैं कि बिहार से ही देश की राजनीति की दिशा और दशा तय होती है। जितनी सियासत बिहार में होती है उतनी तो पूरे देश में भी नहीं होती। जुड़े रहिए न्यूज़ बिहार के साथ हम आपको उन सभी खबरों से बाखबर रखेंगे जिनसे आप का सीधा सरोकार है।

Subscribe us on whatsapp