न्यूज़ बिहार डेस्क। पटना (अमन कुमार):  खोरमपुर,वैशाली मे बहुचर्चित लोक नाटक  बेटी वियोग की दमदार प्रस्तुति कि गई। इस नाटक के निर्देशक विक्की कुमार ने किया. बिहार के जाने माने लोक नाटक के जन्मदाता भिखारी ठाकुर कृत  हैं। नाटक के माध्यम से भिखारी ठाकुर ने बाल विवाह को उजागर किया गया है. जो समाज की नजरों में उपहास की पात्रा हैं, बालपर मे उसकी शादी बेटी रानी सिन्हा से होती है. वहीं नाटक गीत संगीत से भरपूर यह नाटक कलाकारों के जीवंत अभिनय से मंच पर साकार हुआ. गौतमी, रानी सिन्हा, गुलशन परवीन, आशिफ,बाबा, रणधीर कुमार, संगीत पर सलोना, मंचन वमॉ ,अभिषेक आनन्द, भीम कुमार, पंकज कुमार, सिद्धार्थ रॉय, रूप से प्रभावित किया. लोक नृत्य प्रस्तुति मे आनन्त मिश्रा, अरूण राज,सोनाली सरकार, वर्षा प्रियदर्शना,एवं तान्या कुमारी भावनृत्य की दिया गया. संस्था के विजय कुमार सिंह, पंकज सिंह, पवन सिंह शामिल थे. कार्यक्रम संयोजक राकेश कुमार, पंकज राय के सहयोग से यह कार्यक्रम सफल हुआ.।