आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद ने कहा कि शंकराचार्य पद पर आरक्षण हो. शंकराचार्य के 4 में से 3 पद दलित, आदिवासी और पिछड़ों को मिले. हम इसके लिए आंदोलन करेंगे. उन्होंन सवाल उठाया कि क्यों ब्राह्मण ही शंकराचार्य बनते हैं? यह सामाजिक न्याय के खिलाफ हैं.

राजगीर में राष्ट्रीय कार्यकारिणी में बोलते हुए लालू प्रसाद ने कार्यकर्ताओं से कहा कि अपने-अपने इलाके की बूढ़ी गाय को इकट्ठा करके बीजेपी नेताओं के घर बांध दो. इनकी गौ भक्ति, गौ प्रेम सामने आ जाएगा.

उन्होंने इस बात को फेसबुक पर लिखा, मैंने अपने कार्यकर्ताओं से कहा है कि बिना दूध देने वाली गायों को भाजपा कार्यालयों में जाकर बांध दो तब देखना कि कुत्ते पालने वाले तथाकथित गौमाता हितैषी उन गायों के साथ क्या-क्या करते हैं? अगर वे गाय माता को पीट-पाट कर भगाते हैं तो उसे ध्यान से देखो. यदि वे गाय माता का अपमान करते है, किसी और के यहां भेजते है तो उन्हें तथाकथित गौरक्षकों को सौंप देना.

उन्होंने आगे कहा कि भला बताइये, कुत्ते पालने वाले आडंबरी लोग गौ-पालकों को गौरक्षा का उपदेश दे रहे हैं. है ना विडंबना. अब आप सोचिए, विचारिए? कितने खतरनाक किस्म के लोग है.

बैठक में भी प्रस्ताव के जरिए लालू को नरेंद्र मोदी सरकार को हटाने के अभियान मोर्चाबंदी के लिए अधिकृत किया गया. लालू ने कहा कि वह देश में घूम-घूम कर इस मोर्चाबंदी को अंजाम देंगे. उन्होंने कहा कि 27 अगस्त को पटना में राजद की महारैली होगी. बैठक में न्यायित सेवा में आरक्षण और नौकरियों में आरक्षण के बैकलॉग को भी भरने की मांग उठी.

लालू प्रसाद ने कार्यकर्ताओं से कहा कि मनुस्मृति पढ़ो, ताकि बीजेपी के खतरनाक मंसूबे को पर्दाफाश किया जा सके. एक ही नशा रखो- दिल्ली में बैठी बीजेपी सरकार को हटाने का नशा.

(साभार न्यूज 18)

Subscribe us on whatsapp