पटना (अमन कुमार) आज का नुक्कड़ नाटक आशा छपरा के पटना इकाई द्वारा प्रेमचंद ररंगशाला में शाम 5.30 में प्रस्तुत किया गया नाटक भोला राम का जीव हरिशंकर परसाई की एक व्यंगरचना है जिसमे सरकारी दफ्तरों में होने वाले घूसखोरी भ्रष्टाचार के ऊपर व्यंग है, एक आम आदमी भोला राम जिसकी मृत्यु के पश्चात 5 साल तक उसे उसकी पेंशन नही मिलती है, ओर उसकी आत्मा को ढूंढने नारदमुनि पृथ्वीलोक आते हैं, उन्हें भी सरकारी अफसरों की गलियां सुननी पड़ती है, 

नाटक में चंदन, राहुल, उज्जवल शशांक, तेजप्रताप,अनुराग, रेहान, सन्नी, अजित इत्यादि थे नाटक का निर्देशन किया था मोहम्मद जहाँगीर ने ।।

Subscribe us on whatsapp