आरा : भोजपुर जिला में अपराधियों का बोलबाला अभी भी जारी है. गाँव गाँव घूम कर लोगों का इलाज करनेवाले चिकित्सक ने ये कभी नही सोंचा होगा कि उनका ये सेवा लोगों को रास नही आएगा और उनके ही घर मे उनको गोलियों से भून कर मौत की नींद सुला दिया जाएगा. सूत्रों की मानें तो अपराधी पुलिस की वर्दी में आए थे. इस नृशंस वारदात को अंजाम देने के बाद अपराधी आसानी से भाग निकले. इधर गोली लगने से घटनास्थल पर ही डॉक्टर की मौत हो गई. इस घटना से इलाके में सनसनी फैल गयी.

घटना की जानकारी मिलते ही आसपास के लोग काफी संख्या में जुट गये. आक्रोशित लोगों ने तरारी थाने का घेराव कर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे. इसकी वजह से कारण अफरा-तफरी का माहौल हो गया है. बताया जा रहा है कि प्रतिदिन की तरह अपने तरारी थाना क्षेत्र के इटिम्हा गांव में स्व लक्ष्मण साह का इकलौता बेटा संतोष साह रात में खाना खाकर अपने परिजनों के साथ सोये हुए थे. परिजनों के अनुसार देर रात नकाबपोश दो अपराधी घर में दाखिल हुए. वे सब खाकी वर्दी पहने हुए थे. सूत्रों के अनुसार अपने हाथों में आर्म्स लिये हुए थे. अपराधियों ने सोए अवस्था में ही अंधाधुंध बदमाशों ने डॉक्टर संतोष साह पर गोलियां बरसानी शुरू कर दी. इससे डॉक्टर संतोष की घटनास्थल पर ही मौत हो गई. वहीं गोलियों की तड़तड़ाहट से बगल में सो रही पत्नी हड़बड़ा कर उठी. अपराधियों को पकड़ने का प्रयास किया, लेकिन अपराधी गोली मार कर निकल भागे.

पत्नी के सामने ही उसके पति को बदमाशों ने आठ गोलियां मार दीं. इस में गोलियों के झटके से पत्नी भी जख्मी हो गयी है. घटना के बाद से परिजनों का हाल बुरा हो गया है. बच्चे की हालत खराब हो गयी है. बताया जा रहा है कि संतोष अपने गांव में ही प्राइवेट रूप से डॉक्टरी की प्रैक्टिस करता था. परिजनों के अनुसार संतोष का किसी के साथ कोई विवाद नहीं था.

Subscribe us on whatsapp