अक्षय कुमार की आने वाली फिल्म टॉयलेट एक प्रेम कथा जिसे 11 अगस्त को रिलीज होना था वो लगातार एक के बाद एक नए मामले में उलझती जा रही है। ताजा मामले में फिल्मकार प्रतीक शर्मा

 ने अक्षय कुमार की फिल्म पर आरोप लगाया है कि फिल्म की पंचलाइन और सब्जेक्ट उनकी फिल्म ‘गुटरुं गुटर गूं’


 से लिए गए, आपको बता दें कि इस फ़िल्म में पटना के कई रंगमंच के कलाकारों ने भी अभिनय किया है और तो और इस फिल्म के मुख्य अभिनेता पटना रंगमंच के  बुल्लु कुमार


और अभिनेत्री अस्मिता शर्मा


इस  मामले को लेकर प्रतीक ने फिल्म के से जुड़़े स्टूडियो के ऊपर कोर्ट में केस भी दर्ज करवाया है। 

इससे पहले जयपुर में 7 जुलाई को ‘वॉयकॉम-18’ के खिलाफ जयपुर कोर्ट में ममला दर्ज करवाया जा चुका है। कोर्ट ने इस मामले में 22 जुलाई तक जवाब जारी करने को कहा है। 

आपको बता दें प्रतीक ने ‘गुटरुं गुटर गूं’ 2015
 में बना कर पूरी की थी। रिपोर्ट्स के मुताबकि प्रतीक का कहना है कि सीबीएफसी ने उनकी फिल्म को प्रसारित करने का सर्टिफिकेट दे दिया है लेकिन पैसों की कमी के कारण वो फिल्म का प्रसारण नहीं करवा पा रहे हैं। 

इसके अलावा फिल्म को सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ और अन्य गणमान्य व्यक्तियों को दिखाया जा चुका है।  फिल्म को दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टीवल, इंडियन फिल्म फेस्टीवल मेलबर्न और राजस्थान अंतरराष्ट्रीय फिल्मोत्सव जैसे महोत्सवों में भी भेजा गया है। दो साल बाद पूरी टीम फिल्म को रिलीज करने की तैयारी में थी लेकिन अब वितरकों ने यह कहकर हाथ पीछे खींच लिए हैं कि यह फिल्म ‘टॉयलट: एक प्रेम कथा’ की तरह ही है। प्रतीक ने कहा कि उन्हें आशा है कि अदालत उनके साथ न्याय करेगी। 

जनवरी में फिल्म का ट्रेलर जारी किया गया था। देखें वीडियो
https://youtu.be/16K_dVsbTgY

गौरतलब है कि एक अन्य मामले में फिल्म को कॉपीराइट नियमों के उल्लंघन के आरोप में नोटिस जारी किया जा चुका है। दरअसल प्रवीण व्यास की शॉर्ट फिल्म ‘मानीनी’ जो कि 2016 में आई थी, पिछले साल गोवा में हुए इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया में उसे थर्ड प्राइज मिला था। इस फेस्टिवल में कुल 4500 फिल्मों की एंट्री हुई थी। जुलाई के पहले हफ्ते में प्रवीण व्यास ने फिल्म के मेकर्स को लीगल नोटिस भेजा था साथ ही साथ फिल्म ‘टॉयलेटः एक प्रेमकथा’ के प्रोमोशनल इवेंट्स को भी रोकने को कहा था। 

मुंबई मिरर के खबर के मुताबिक व्यास ने बताया कि 


फिल्म में कई सीन और डायलॉग उनकी डॉक्यूमेंट्री से सीधे-सीधे चुरा लिए गए हैं। नोटिस बॉलीवुड फिल्म प्रोडक्शन और डिस्ट्रिब्यूशन कंपनी वायाकॉम 18 मोशन पिक्चर्स के नाम भेजी गई थी। 

Subscribe us on whatsapp