बक्सर : नए साल से पहले मंगलवार को शहर में भारी मात्रा में शराब बरामद की गई। पुलिस ने 809 बोतल शराब के साथ दो वाहनों को भी जब्त किया है। हालांकि, दोनों मामलों में तस्कर पुलिस के हाथ नहीं लग सके। पुलिस को दोनों कामयाबी गंगा पुल पर तलाशी के दौरान मिली। पहले मामले में आल्टो में शराब रखी थी तो दूसरे मामले में वैगनआर कार में। एडीशनल एसपी ने शैशव यादव ने बताया कि पुलिस ने शराब तस्करी को चुनौती के रूप में लिया है।

अब बस कुछ ही दिनों में नया साल दस्तक देने वाला है। ऐसे में एक तरफ जहां जोर शोर से जश्न मनाने की तैयारियां की जा रही है तो दूसरी ओर शराब तस्कर इस जश्न को अपने तरीके से भुनाने में लगे हुए हैं। नव वर्ष को ले सतर्क बक्सर पुलिस द्वारा एसपी के दिशा निर्देश पर लगातार कार्रवाई की जा रही है। इस दिशा में सोमवार की रात और मंगलवार की सुबह दो अहम् कामयाबी बक्सर पुलिस के हाथ लगी है। जब दो वाहनों के द्वारा भारी मात्रा में सीमा के अंदर लाई जा रही शराब बरामद करने में सफलता मिली। पत्रकारों को इसके बारे में विस्तृत जानकारी देते एडीशनल एसपी शैशव यादव ने बताया कि पहली कामयाबी सोमवार की शाम गंगा पुल पर वाहन चे¨कग के दौरान हाथ लगी। जब यूपी की ओर से गंगा पुल होते आ रही एक आल्टो को रोककर अभी तलाशी ही ली जा रही थी कि इतने में चकमा देकर चालक फरार हो गया। वाहन की तलाशी के दौरान उसकी डिक्की में छुपाकार रखे गए 180 एमएल 8पीएम और ब्लेंडर के लगभग तीन सौ बोतल बरामद किए गए। इसमें शराब के साथ ही वाहन को भी जब्त कर लिया गया। वही दूसरी कामयाबी मंगलवार की सुबह बैरियर की जांच से आगे बढ़ी एक वैगनआर से हासिल हुई। जिसमें से शराब की आ रही गंध के आधार पर पुलिस ने रोकने का ईशारा किया तो चालक वाहन लिए भाग निकला। जिसका पीछा करते हुए पुलिस ने ज्योति चौक तक आई। जहां चालक वाहन को खड़ी कर फरार हो गया था। जब वाहन की जांच की गई तो उसके हर दरवाजे में छुपाकर रखी शराब की बोतले बरामद की गई जो लगभग 500 बोतल पाई गई हैं। दोनों वाहनों को शराब के साथ जब्त कर लिया गया है। साथ ही नया वर्ष का मौका देखते हुए पुलिस गश्त और भी तेज कर दिया गया है।

नव वर्ष को ले सीमावर्ती कई स्थानों से हो रही तस्करी…

नए वर्ष के मौके पर जश्न मनाने की पुरानी परंपरा है। ऐसे में शराब का सेवन करने वालों के लिए शराब के बगैर कोई भी जश्न भला कैसे पूरा हो सकता है। शराब बंदी के बाद से तस्करी के एक से बढ़कर एक नयाब तरकीबें खोजी जा रही हैं। जिन तक पहुंचने में पुलिस को भी काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। नए वर्ष को ले जिले में सीमावर्ती यूपी से लगातार शराब की खेप प्रवेश कर रही है। सड़क मार्ग पर पुलिस की गतिविधियां बढ़ने के बाद इन दिनों गंगा का दियारा क्षेत्र इसके लिए सेफ जोन दिखाई दे रहा है। सूत्रों की माने तो गंगा के दियारा मार्ग से होकर लगातार शराब की खेप जिले में प्रवेश कर रही है। जिसकी भनक पुलिस को भी रहने के बावजूद मुख्यालय से काफी दूर का इलाका होने के कारण पुलिस की इस क्षेत्र पर पकड़ जरूर ढिली पड़ रही है। इसके तहत मंझरियां, उमरपुर से लेकर नैनीजोर तक का इलाका इन दिनों शराब तस्करी के लिए सेफ जोन बन गया है। इस संबंध में एडीशनल एसपी ने बताया कि पुलिस भी इस दिशा में सक्रिय हो चुकी है। और सीमावर्ती सड़क समेत हर संभवित जलमार्ग पर पुलिस की निगाह लगी है। त्योहार को लेकर पुलिस पहले से ही सतर्क बनी है। और लगातार इन सभी मार्गों की निगरानी की जा रही है। कही से भी कोई शराब का तस्कर बच कर नही निकल सकता है।

Subscribe us on whatsapp