बिहार में एक बार फिर से गुजरात चुनाव को लेकर लालू प्रसाद के दिए गए बयान से राजनीति गरमा गई है। लालू प्रसाद में गुजरात चुनाव का हवाला देते हुए एक तरफ जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कड़ा प्रहार किया। वही नीतीश कुमार पर भी जमकर के भड़ास निकाली है। इसको लेकर भारतीय जनता पार्टी की तरफ से तो बहुत ज्यादा प्रतिक्रिया नहीं आई है। पर जदयू की तरफ से प्रवक्ता नीरज कुमार में लालू प्रसाद पर बड़ा हमला बोला है।

गुजरात चुनाव को लेकर लालू प्रसाद ने नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए कहा था कि नीतीश ने नरेंद्र मोदी के सामने जनता दल यूनाइटेड को गिरवी रख दिया है।गुजरात में चुनाव प्रचार नहीं करने जाना सीधे सीधे भाजपा को वाक ओभर  देना है। लालू ने कहा था कि चुकी नीतीश कुमार जनता दल यू के अध्यक्ष भी हैं। इस नाते उनका गुजरात चुनाव में नहीं जाना समझ से परे है। दूसरी तरफ एनडीए में होने के बावजूद नीतीश कुमार को भाजपा द्वारा गुजरात चुनाव में नहीं बुलाया जाना भी बहुत कुछ कहता है।


लालू प्रसाद के इस बयान के बाद जनता दल यू प्रवक्ता नीरज कुमार ने लालू प्रसाद पर हमला करते हुए कहा है कि “जाप करने वालों को गुजरात में चुनाव प्रचार का बुलावा ही नहीं मिला… ना ही लंच-डिनर करने वाली दूसरी पीढ़ी को ही प्रचार का आमंत्रण मिला। कांग्रेस नेतृत्व ने दागियों को चुनाव प्रचार में शामिल करना उचित नहीं समझा।” दागी लालू परिवार से कांग्रेस ने किनारा कर लिया है, नया कपड़ा सिला गुजरात जाने का इंतजार कर रहे थे। नीरज कुमार जदयू की ओर से लालु प्रसाद के हर बयान का जवाब एक अनोखे अंदाज में देने के लिए जाने जाते हैं। वैसे नीरज कुमार के इस बयान के बाद अभी तक राजद या लालू परिवार के तरफ से कोई बयान नहीं आया है।

इसके पूर्व भी जनता दल यू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने  लालू प्रसाद पर बड़ा हमला करतर हुए कहा था बड़े हितैषी बनते हैं “गरीबों को रहने का छत नहीं है और तन ढंकने के लिए कपड़े नहीं है, और लालू सामाजिक न्याय का पाखंड करते हैं।” उक्त बातें नीरज कुमार ने जांच एजेंसियों द्वारा लालू की संपत्ति अटैच करने के बाद कहा था। यही नहीं  नीरज कुमार ने कहा था कि ये तो अभी शुरुआत हुई है,  अभी काफी कुछ अटैच होगा देखते रहिये। राजनीति कोई व्यापार नहीं है जो जैसा जो करेगा वैसा भरेगा।” वैसे भी बिहार में नीतीश कुमार जी का सुशासन है यहां न्याय की प्राथमिकता है। कोई भी हो कानून के दायरे से बच नहीं सकता उसे जेल जाना होगा और उसकी भ्रष्टाचार से अर्जित की गई संपत्ति जब्त होनी ही है।

Subscribe us on whatsapp