आरा : जिले के जगदीशपुर प्रखंड अंतर्गत दावा पंचायत में समीक्षा यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि दहेज जैसी सामाजिक बुराई को खत्म करने के लिए हम सबको मिलकर प्रयास करना होगा। उन्होंने सभा में मौजूद लोगों से कहा कि इस सामाजिक बुराई को दूर किये बिना स्वस्थ व स्वच्छ समाज की परिकल्पना नहीं की जा सकती है। दहेज ऐसी सामाजिक बुराई है, जो समाज के हर तबके में मौजूद है । ऐसे में आज सभी लोग संकल्प लें कि वे इस सामाजिक बुराई का अंत करने में सहयोग करेंगे। मुख्यमंत्री की अपील पर सभा में मौजूद हर आम व खास ने हाथ उठाकर इस मुहिम में सहयोग का भरोसा दिलाया। दहेज प्रथा व बाल विवाह पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि सामान्य अपराधों के मामले में जहां देश में बिहार 22 वे स्थान पर है, वही दहेज हत्या व दहेज उत्पीड़न के मामले में बिहार की स्थिति बहुत बदतर है। यहां उतर प्रदेश के बाद सबसे अधिक दहेज हत्या व दहेज उत्पीड़न के मामले दर्ज किए जाते हैं। यह हम सबके लिए बडे शर्म की बात है। उन्होंने कहा कि बिहार के हर घर में इस साल के अंत तक नल का जल, बिजली  पहुंचाने का राज्य सरकार का लक्ष्य है। जिन टोलों तक सड़क नहीं पहुंची है उन टोला तक सड़क बनाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। सभा को संबोधित करने वालों में खान एवं भूतत्व सह प्रभारी मंत्री विनोद सिंह, जगदीशपुर विधायक राम विशुन सिंह लोहिया, आरा विधायक अनवर आलम, अगिआंव विधायक प्रभुनाथ प्रसाद, विधान पार्षद राधाचरण साह शामिल थे।

Subscribe us on whatsapp