सूखे और कर्ज से बेहाल तमिलनाडु के किसानों की बेजारी एक बार फिर दिल्ली के सियासी गलियारों में अजीबोगरीब प्रदर्शन के तौर पर दिखी. कुछ आंदोलनकारी किसानों ने नॉर्थ ब्लॉक के साड़ी पहन कर विरोध जताया।

सनद रहे कि तामिलनाडु के किसानों का यह प्रदर्शन लगातार चल रहा है। त्रस्त किसानों द्वारा शांतिपूर्ण अपनी बात सरकार तक पहूँचाने के लिए अलग अलग तरह से विरोध करने का तरीका अपनाया गया है।


करीब एक महीने से जारी है प्रदर्शन
ये किसान पिछले 28 दिनों से जंतर-मंतर पर धरना दे रहे हैं. इस दौरान मीडिया का ध्यान खींचने के लिए आंदोलनकारियों ने कई बार नरमुंडों के साथ धरना देने से लेकर मरे हुए सांपों को जीभ पर रखकर प्रदर्शन जैसे तरीके अपनाए हैं.

क्या चाहते हैं किसान?
तमिलनाडु के किसान इन दिनों भयंकर सूखे का सामना कर रहे हैं. दक्षिण-पश्चिमी मानसून और पूर्वोत्तर मानसून सामान्य से 60 फीसदी बरसा है. ऐसे में कर्ज का बोझ उनकी जिंदगी को और कठिन बना रहा है. किसानों का आरोप है कि आत्महत्या के बढ़ते मामलों के बावजूद सरकार उनकी सुनवाई नहीं कर रही है. वो कर्ज माफी के साथ राहत पैकेज की भी मांग कर रहे हैं. दूसरी ओर, मद्रास हाईकोर्ट ने तमिलनाडु सरकार को किसानों का कर्ज माफ करने का निर्देश दिया है.

समर्थन में जुटे सियासत और सिनेमा के सितारे
वहीं, जंतर-मंतर पर किसानों के समर्थन में कई नेता और दक्षिण भारतीय सिनेमा के सितारे पहुंचे हैं. राहुल गांधी के अलावा मणिशंकर अय्यर और डीएमके सांसद कनिमोझी किसानों से मिल चुकी हैं. भारतीय किसान यूनियन ने भी इस आंदोलन के समर्थन का ऐलान किया है.