जनेऊ भी बेचारा सियासी हुआ, नीतीश ने कहा गुजरात तो मोदी का है। नीतीश कुमार पिछले कुछ दिनों से अपने विरोधियों पर काफी मुखर हो गए हैं। जनेऊ पर नीतीश कुमार ने चुप्पी तोड़ते हुए अपने विचार रखे। बयानों व जवाबी हमले की शुरुआत सबसे पहले नीतीश कुमार ने लालू प्रसाद पर हमला से किया। लालू के हमले का नीतीश कुमार खुद जवाब देने आगे आये। अब इससे आगे बढ़ते हुए नीतीश कुमार ने कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर भी एक बड़ा बयान दे दिया है। जनेऊ पर भाजपा का समर्थन करते हुए गुजरात मे खुल कर भाजपा के समर्थन में कांग्रेस पर निशाना साधा है।

आपको बता दें कि जैसा हर बार ‘लोकसंवाद कार्यक्रम’ की समाप्ति के बाद नीतीश प्रेस को संबोधित करते हैं आज भी किया। पर आज लोकसंवाद की बातों से इतर एक अलग तेवर में दिखे। उन्होंने कहा कि लोकनायक जयप्रकाश नारायण ने एक सभा मे सभी लोगों के जनेऊ उतरवा दिए थे। इस बात को कहने के साथ ही नीतीश कुमार भी भाजपा द्वारा राहुल गांधी के जनेऊ वाले बयान के समर्थन में खुल कर सामने आ गए। नीतीश कुमार ने गुजरात चुनाव के हवाले से कहा कि ये कांग्रेस का डर है जो वह जनेव दिखा रही है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दावा करते हुए कहा कि गुजरात में भारतीय जनता पार्टी मजबूती के साथ विधानसभा चुनाव जीत कर फिर से सत्ता में आएगी। कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि गुजरात में कांग्रेस डरी हुई क्यों है, जिस कारण उसे ‘जनेऊ’ दिखाना पड़ रहा है। नीतीश ने सवालिया लहजे में कहा कि हम लोगों ने तो कभी जनेऊ नहीं पहना तो क्या हम हिंदू नहीं हैं?

नीतीश आगे कहटर हैं कि जब भरी सभा में लोकनायक जयप्रकाश नारायण ने सभी लोगों के जनेऊ उतरवा दिए थे। तब उसके पीछे उनका मकसद था सभी एक समान हैं बराबर हैं। हम लोगों के बीच इस जनेव के कारण गैर बराबरी नहीं होनी चाहिए। इसके साथ ही नीतीश कांग्रेस के राहुल गांधी को ‘जनेऊधारी हिंदू’ बताए जाने पर तंज कसा। पत्रकारों को सवालिया निगाह से निहारते हुए पूछ कि जो लोग जनेऊ नहीं पहनते हैं, वे क्या हिंदू नहीं हैं।
पूरी लय और पूरी तैयारी में दिख रहे नीतीश जैसे आज मन मे ठान नकार आये थे कि कांग्रेस को निशाने ओर रखना है। उन्होंने कहा, की “मुझे सुनने में आया है कि गुजरात में कांग्रेस ने बहुत कम मुस्लिम उम्मीदवार खड़ा किए हैं। यही नहीं मुस्लिमों को मंच से बोलने भी नहीं दिया जा रहा है।” नीतीश ने कहा कि गुजरात की धरती के पुत्र आज देश के प्रधानमंत्री हैं, यह वहां के लोगों के लिए भी गौरव की बात है। ऐसे में गुजरात के लोग प्रधानमंत्री को छोड़कर कहीं नहीं जाने वाले हैं।

हालांकि नीतीश कुमार एक सबसे अहम सवाल जो आज कांग्रेस के लिए सबसे बड़ी है उसकी चर्चा करने से बचते दिखे। कांग्रेस के अध्यक्ष पद पर राहुल गांधी के नामांकन दाखिल करने को लेकर उठे सवाल पर कोई जवाब नहीं दे नीतीश ने इधर उधर की बातें करना ज्यादा उचित समझा। जब राहुल गांधी के अध्यक्ष पद पर नामांकन की बात कई बार सामने आई तो नीतीश कुमार ने कहा कि ये मामला कांग्रेस का अंदरूनी है।

नीतीश कुमार के इस बदले तेवर और नायें अवतार को देख कर राजनीतिक गलियारे में खूब चर्चा हो रही है। कई नेताओं ने कहा कि नीतीश जी कभी कभी इस तरह का अजूबा करते हैं और फिर अपने पलटी मार लेते हैं। नीतीश का नरेंद्र मोदी को पीएम मेटेरियल कहना फिर खुद नाकारना और अब फिर से एक बार नरेंद्र मोदी का गुणगान करना। राजनीति है और  इस राजनीति में कब क्या होगा कहना मुश्किल है।

Subscribe us on whatsapp