न्यूज़ बिहार डेस्क, खुश खबरी : बिहार के मुंगेर की रहने वाली ईमा रोहिणी मिसेज इंडिया अर्थ प्रतियोगिता के ग्रैंड फिनाले में पहुंच गई है। उनके इस उपलब्धि से मुंगेर सहित बिहार के लोगों में खुशी का माहौल है। ईमा की मां ने बताया की उनकी बेटी के यहां तक पहुंचने में ससुराल वालों का काफी योगदान है। ईमा ने अपनी तीन वर्ष की नन्हीं बेटी की परवरिश के लिए बैंक की नौकरी तक छोड़ दिया। पर कहते हैं कि कुछ अलग करने का जज़्बा हो तो सब कुछ आप अपने अनुकूल बना लेते हैं।


आपको बता दें कि ईमा वर्तमान में बेंगलुरु में रहती हैं। भ्रमण, लेखन, नृत्य, गायन और ईवेंट मैनेजमेंट जैसे अनेकों शौक है ईमा के। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान एवं खुले में शौच मुक्ति जैसे अभियानों ने ईमा को बेहद प्रभावित किया है। उनका शौक उन्हें इस तरह के कामों में बेहद मदद करता है। ईमा तरु मित्र जैसे संस्थान से जुड़ कर ‘पेड़ लगाओ पर्यावरण बचाओ’ अभियान का हिस्सा रही हैं और ग्रीन पीस जैसे संगठनों को भी आर्थिक सहयोग करती रही हैं।

आगामी 6 अक्टूबर को दिल्ली में आयोजित होने वाली मिसेज इंडिया अर्थ प्रतियोगिता में बिहार का प्रतिनिधित्व करेंगी। रोहिणी ने देश के शीर्ष 48 प्रतिभागियों को शिकस्त देते हुए अपनी जगह बनाई है। ईमा को जानने वाले बताते हैं कि बचपन से ही मेधावी छात्रा रही है। प्रारंभिक शिक्षा मुंगेर नेट्रोडेम एकेडमी से प्राप्त की और दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री हासिल किया। इसके बाद हैदराबाद स्थित आइबीएस से प्रबंधन में स्नातकोत्तर की पढ़ाई पूरी की। वर्ष 2008 में ओरिएंटल बैंक ऑफ कामर्स में मार्केटिंग मैनेजर के पद पर योगदान दिया। इनकी शादी मुंगेर के ही रहने वाले बेंगलुरु में सॉफ्टवेयर कंपनी में कार्यरत प्रमोद शुक्ल से हुई।

ईमा अरुण ने मुंगेर सहित संपूर्ण बिहार को गौरवान्वित किया है। ईमा ने कठिन और विषम परिस्थितियों के बावजूद खुद को जिस तरह ढालते हुए आज जिस मुकाम पर हैं प्रेरक है। न्यूज़ बिहार उनके इस सफलता पर शुभकानाएं देता है।

Subscribe us on whatsapp