न्यूज़ बिहार Exclusive  आज पटना के बोरिंग रोड में अतिक्रमण हटाने के नाम पर पुलिस की बर्बरता सामने आई है। जिन रेडी पटरी वालों को हटाने के नाम पर पुलिस ने लाठी चार्ज किया है। उन्हें सरकार के तरफ से कार्ड भी निर्गत किया गया है।

आपको बता दें कि बोरिंग रोड के इस स्थान पर खाने पीने की चीजों की दुकान काफी वर्षों से चल रही है। राज टावर के सामने गरीब लोगों ने अपने जीवनयापन के लिए ठेला खोमचा पर दुकान खोल रखा था। इन दुकानदारों पर की गई लाठी चार्ज में दर्जनों लोग घायल हुए हैं।

न्यूज़ बिहार सबसे पहले घटना स्थल पर पहुची जिसे लोगों ने बताया कि बिना किसी पूर्व सूचना के सीधे पुलिस आई और उनका सामान फेकने लगी और लाठी डंडों से पीटने लगी। इस घटना से रेडी पटरी वालो  के साथ आम लोगों में भी गुस्सा है। आक्रोश काफी है स्थिति हालांकि अभी नियंत्रण में है पर लोगों ने उग्र प्रदर्शन करने की बात कही है।
आपको बता दें कि सरकार और प्रशासन को इन लोगों ने खुली चुनौती देते हुए कहा कि शराब बेचेंगे। क्योंकि जायज काम पुलिस और प्रशासन के साथ सरकार को भी मंजूर नही है। जब रसीद काटा जाता है तथा कार्ड दिया गया है फिर क्यों हम ओर जुर्म ढाया गया। इस कुकृत्य का जवाब निरंकुश सरकार और प्रशासन को देना होगा। 

रेहड़ी पट्टी लगाने वालों ने न्यूज़ बिहार के माध्यम से हर दल के नेता, जनप्रतिनिधियों एवं सामाजिक लोगों का आह्वान कर कहा है कि इस जुर्म का जवाब क्या वो सरकार और प्रशासन से मांगेगे। प्रशासन द्वारा जो बर्बादी और लूट मचाई गई है उसका मुआवजा क्या दिलवाएंगे ? इसके साथ ही दुकानदारों का कहना है की जिस तरह से हमारी बेईज्जती बीच सड़क पर की गई उस मानहानि का बदला लिया जाएगा ?

आपको बता दें कि अतिक्रमण हटाने के नाम पर हुई तोड़ फोड़ से संबंधित जब हमने प्रशासन से पूछा तो गोल मोल जवाब मिला। प्रभावित दुकानदारों में बड़ी आक्रोश है। न्यूज़ बिहार लगातारा इस खबर पर नज़र बनाये हुए है।