केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री एवं बक्सर सांसद अश्विनी कुमार चौबे के बड़े पुत्र जो भागलपुर के विधानसभा के पूर्व प्रत्यासी भाजपा को खुलेआम मिली धमकी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भाजपा के युवा नेता एवं पिछले विधानसभा चुनाव में भागलपुर के भाजपा प्रत्यासी रहे अर्जित शास्वत चौबे को अवैध रूप से बालू का खनन करने वाले माफिया की तरफ से जान से मारने की धमकी मिली है। अर्जित शास्वत के अनुसार भागलपुर में धड़ल्ले से चल रहे अवैध बालू खनन के विरोध करने पर बालू माफियाओं ने  अर्जित शाश्वत चौबे को जान से मारने की धमकी दी है।

न्यूज़ बिहार ने जब अर्जित से बात की तो उन्होंने बताया कि जब वे एक समारोह में शामिल होने अपने पैतृक गांव दरियापुर गये थे। गांव से वापसी के वक्त रास्ते मे बालू माफियाओं ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी। अर्जित कहते हैक की वापसी के समय रास्ते पर दस बीस लोग इकठ्ठा थे। शायद इन्हें इस बात की पहले से सूचना थी कि मैं आ रहा हूँ। पहले तो रास्ते पर इकठ्ठा लोगों में से एक ने गाली-गलौज किया। फिर धमकी दी कि अगर उनके खनन के काम में खलल डालने का प्रयास करोगे तो जान से ही चले जाओगे।


बिहार की राजनीति में बड़ी तेजी से उभरते युवा भाजपा नेता अर्जित शाश्वत चौबे ने बताया कि उनके परिवार की जमीन और गांव की जमीन को जबरदस्ती बालू माफिया काट रहे हैं। उनके चचेरे भाई उज्जवल चौबे को भी बालू के इन अवैध कारोबारियों ने धमकी दिया है। हमारे पुरखों की जमीन से अवैध बालू खनन का जब भाई उज्ज्वल ने विरोध किये तो उसे भी जानसे मारने की धमकी अवैध खनन करने वाले बालू माफिया ने दिया। 


अर्जित चौबे ने कहा कि पहले भी उन्होंने पुलिस से इसकी शिकायत की थी। अब जाकर शिकायत दर्ज कर लिया गया है। आपको बता दें भाजपा नेता अर्जित शाश्वत चौबे पिछले कई वर्षों से अवैध खनन का विरोध कर रहे हैं। इसी विरोध की वजह से अर्जित बालू माफियाओं के निशाने पर हैं। अर्जित शाश्वत चौबे की शिकायत पर शुक्रवार पुलिस ने कजरैली थाना क्षेत्र में अवैध बालू कारोबारियों के खिलाफ धरपकड़ शुरू कर दी है। अर्जित कहते है कि इन धमकियों से उन पर कोई असर नहीं पडता है। बालू के अवैध खनन का विरोध तब तक जारी रहेगा जब तक अवैध खनन बंद ना हो जाए।

Subscribe us on whatsapp