ख़ास खबर:- किसी भी राष्ट्र को अपनी सेना पर गर्व रहता है। एक तरफ जहां सेना पर भी सियासत से कुछ लोग या कहें तो राजनेता बाज़ नहीं आते। वहीं कुछ ऐसे भी लोग हैं जो सेना के जवानों के लिए अपना सब कुछ न्यौछावर करने को तैयार रहते हैं। ऐसा ही एक मिशाल कायम किया है भावनगर के रहने वाले जनार्दन भट्ट ने। श्री भट्ट ने देशभक्ति की गजब की मिसाल पेश किया है। उन्होंने अपनी जीवनभर की कमाई सेना के जवानों के लिए दान कर दी। भट्ट एसबीआई में क्लर्क के पद से रिटायर हुए हैं। उम्र के इस पड़ाव में आकर उन्होंने अपने बारे में ना सोचकर देश के जवानों के प्रति अपना प्यार और सम्मान अपने जीवन भर की कमाई समर्पित कर के जाहिर किया।

जनार्दन भट्ट न तो अमीर परिवार से हैं न ही उन्हें कोई लॉटरी ही लगी है। उन्होंने नौकरी के दौरान गाढ़े वक्तबके लिए जमा किये पाई-पाई को जोड़कर और बचत करके ये पैसा जमा किया था। अपने जीवन में उन्होंने सुख के साधनों में कटौती कर पैसे जोड़े थे। गुजरात जैसे राज्य में उनके घर में एक एयर कंडीशन तक नहीं है। पर जज्बा ऐसा की उन्होंने एक करोड़ रुपया का चेक शहीद जवानों के नाम तथा दो लाख रुपये घायल जवानों के इलाज के लिए दान कर देश दुनिया के सामने एक शानदार उदाहरण प्रस्तुत किया है। न्यूज़ बिहार उनके इस जज्बे को सलाम करता है।